Back
Home » मुख्य समाचार
कमलेश तिवारी हत्‍याकांड: आरोपियों के पकड़े जाने पर 'मां' ने जताई खुशी, मांगी फांसी की सजा
Khabar India TV | 23rd Oct, 2019 07:33 AM
नई दिल्ली। कमलेश तिवारी की हत्‍या के दोनों प्रमुख आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद जहां यूपी पुलिस ने राहत की सांस ली है, वहीं कमलेश तिवारी की मां कुसुम तिवारी ने भी पुलिस की इस तत्‍पर कार्रवाई की सराहना की है। तिवारी की मां ने कहा कि आरोपियों की गिरफ्तारी से वे काफी खुश हैं। उनके बेटे के हत्‍यारों को फांसी पर लटकाने की मांग की है। साथ ही उन्‍होंने कहा कि यूपी सरकार की कार्रवाई से वे पूरी तरह से संतुष्‍ट हैं।  {twitter:twitter.com/ANINewsUP/status/1186815731490410496} बता दें कि कल ही गुजरात एटीएस ने दोनों आरोपियों अशफाक और मोइनुद्दीन को गुजरात-राजस्थान बॉर्डर से गिरफ्तार किया था। यूपी पुलिस ने दोनों पर कमलेश तिवारी की हत्या के मामले में ढाई-ढाई लाख का ईनाम घोषित किया था।  दोनों आरोपियों की गिरफ्तारी पर यूपी पुलिस के डीजीपी ओपी सिंह ने कहा कि हत्‍या के बाद से ही हमारी टीमें इनके पीछे थीं। इन्‍हें पकड़ने के लिए यूपी पुलिस के साथ महाराष्‍ट्र और गुजरात पुलिस की टीमों में पूरे समन्‍वय के साथ काम किया। बता दें कि हत्या मामले में सूरत के तीन लोगों और महाराष्ट्र के नागपुर से एक व्यक्ति के साथ कुल छह लोगों को पहले ही हिरासत में लिया जा चुका है ।  {twitter:twitter.com/ANINewsUP/status/1186719243783421952} गुजरात-राजस्‍थान बॉर्डर से हुई थी गिरफ्तारी   गुजरात आतंक रोधी दस्ते (एटीएस) के पुलिस उपमहानिरीक्षक हिमांशु शुक्ला ने बताया कि मंगलवार शाम गुजरात-राजस्थान सीमा पर शामलाजी के पास से उन्हें तब गिरफ्तार किया गया जब वे गुजरात में घुसने वाले थे । पुलिस अधिकारी ने बताया कि तकनीकी सर्विलांस के जरिए उनकी स्थिति का पता लगाया गया, जब दोनों ने फरार होने के बाद अपने परिवार और दोस्तों से बात की। दोनों को हिंदू समाज पार्टी के प्रमुख तिवारी की हत्या की जांच कर रही उत्तर प्रदेश पुलिस के हवाले किया जाएगा ।  भगवा पहन कर आए थे आरोपी  हिंदू समाज पार्टी बनाने के पहले हिंदू महासभा के एक धड़े से जुड़े रहे तिवारी (45) की हत्या लखनऊ के नाका हिंडोला इलाके में उनके घर में कर दी गयी थी। पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने बताया था कि होटल स्टाफ के मुताबिक, हत्या वाले दिन दोनों आरोपियों ने अपने नाम क्रमश: शेख अशफाकुल हुसैन और मुइनुद्दीन पठान बताये थे। उन्होंने भगवा कुर्ता पहन रखा था और उनके हाथ में मिठाई का डिब्बा था।  (इनपुट-भाषा) {youtube:youtube.com/watch?v=KDTRboFWCBA&feature=youtu.be&t=2238}
   
 
स्वास्थ्य